चेन्नई ; बॉलीवुड और साउथ फिल्मो के अभिनेता कमल हसन ने आपने 63 वे जन्मदिन पर संकेत दिया की वह जनवरी मे अपनी पार्टी बना सकते है उन्होंने यह भी साफ़ किया की वह हिन्दू विरोधी नहीं है और न ही किसी की भावना को ठेस पहुंचाना चाहते थे मंगलवार को उन्होंने सवादाता सम्मलेन मे कमल हसन  ने ‘माइयमव्हिसल’ (केंद्र सीटी) और ‘ददीथीरेपॉम्वा’ (हमें खोजें और हल करें) जैसे कई लिंक के साथ ‘केएच’ नामक एक ऐप लॉन्च किया. यह लोगों के लिए एक डिजिटल प्लेटफॉर्म के रूप में कार्य करेगा जिस पर वह कमल हासन के साथ बातचीत और शिकायत कर पाएंगे

कमल हसन ने बताया वह लोगो तक पहुंचने के लिए तमिलनाडु की यात्रा की योजना बना रहा हु और कहा तारीखों की घोषणा बाद मे की जाएगी और बहुत सारी तैयारी की जा रही है और विषेश्यागो और दोस्तों से अनुरोध कर रहा हु और उचित समय आने पर जल्द ही इसकी घोषणा भी कर देंगे

हाल ही मे उन्हें हिन्दू विरोधी नज़रो से देखा जा रहा था उनके वयानो के कारण कमल हसन ने यह भी स्पष्ट किया की वह हिन्दू चरमपंत के बारे  मे बात कर रहे थे न की हिन्दू आतंकवाद के बारे मे कमल ने कहा हिन्दू की भावनाओ को ठेस पहुंचकर दुःख नहीं पहुँचाना चाहता था और हिन्दू को दुःख पहचाने के लिए नहीं पार्टी शुरू कर रहा हु और मे भी एक हिन्दू परिवार मे ही आता हु और मे कभी अपने परिवार का स्नेह नहीं खीना चाहता हु और किसी को दुःख नहीं पहुँचाना चाहता था लेकिन अव गलतफहमी हो गई तो मे आवाज उठाऊगा

कमल ने कहा मै जब हिंसा पर बोलता हु तो वास्तविक मुद्दों पर ही बात करता हु और किसी को भी  हिंसा मे शामिल नहीं होना चाहिए यह हिन्दू और मुस्लिम दोनों पर लागू होता है जब मे चरमपंथ कहता हु तो इसका मतलव यह नहीं है की आतंक बल्कि हिंसा है

 

कुछ हिन्दू संगठन के मरने बलि धमकी के प्रश्न पूछे जाने पर कमल ने कहा मैं हमेशा सच बोलता हु और अगर इसके लिए दंड दिया जाता है तो मै इसके लिए तैयार हु कमल ने कहा मेरे दोस्त और रिश्तेदार हर समुदाय मै है हलाकि मुझे कुछ लोग हिन्दू विरोधी कह रहे है मे ब्राह्मणो के मूल तत्वों के ऊपर उठ चूका हु और यह एक खोज है इसमें कोई शर्म या गर्व नहीं है धर्म की आष्टा रखने बाले मुझे नास्तिक बोल रहे है लेकिन मै एक तर्कवादी हु 

Loading...