नोयडा : आपने पिता की अंतिम यात्रा को सड़क पर ढोल नगाड़े व बेंड बाजे की आवाज संगीत के साथ थिरकती लड़कियों साथ मे सजी दाजी कर मनो किसी की बारात चढ़ रही हो इसे देखने के लिए  हुजूम लग गया जव लोगो ने नजदीक आकर देखा तो चार लड़कियाे के कंधे पर अर्थी जा रही थी उसे देखकर लोग हैरान रह गए

 

लोगो ने पता करना चाहा की ये किसकी अर्थी है यात्रा मे शामिल लोगो ने हसते हुए बताया  की यह नोयडा के के मशहूर कारोबारी हरिभाई लालबानी की अंतिम यात्रा का उत्सव मनाया जा रहा है उनकी यह अंतिम इच्छा थी की जब दुनिया से जाये तो उनकी अंतिम यात्रा को एक उत्सव के रूप मे मनाया जाये और उनका कोई बेटा नहीं है इसलिए पत्नी मधु लालवानी सहित चारो बेटियां पिता की अंतिम इच्छा को पूरा कर रही है

Loading...